kids story book


प्रसन्न चीनी नागरिक


यदि आप अमेरिका के चाइनाटाउन इलाके में घूमने जाये तो प्रायः हर जगह कपड़े का थैला लादे एक मोटे व्यक्ति की मूर्ति देखने को मिलेगी। चीनी व्यापारी उसे या लाफिंग बुद्धा कहते हैं। होतेई नामक यह व्यक्ति चीन के प्रसिद्व तांग साम्राज्य काल में रहता था। उसे अपने आप को प्रसिद्व चीनी विद्या “ज़ैन” का विद्वान कहलाने और आसपास कई शिष्यों के जमावड़े में कोई रुचि नहीं थी। इसके बजाए वह उपहार, टाफियाँ, फल, और मेवों से भरा कपड़े का बैग उठाकर सडक पर टहलता रहता थ। वह अपने आस-पास जुटे बच्चों को उपहार व टाफियाँ बांटा करता था। एक तरह से उसने सडक पर ही बच्चों का स्कूल स्थापित कर लिया था। लेकिन जब भी वह किसी “ज़ैन विद्या के अनुयायी” से मिलता, अपना हाथ फैलाकर उनसे पैसे मांगता। एक दिन वह अपने रोजमर्रा के कार्य में लगा हुआ था कि एक ज़ैन गुरू वहाँ आये और पूछने लगे- “बताओ ज़ैन विद्या का क्या महत्व है?” होतेई ने उत्तर देने के बजाए सांकेतिक रूप से अपना बैग जमीन पर पटक दिया। गुरू जी ने फिर प्रश्न किया - “तब बताओ कि ज़ैन विद्या की क्या वास्तविकता है?” होतेई ने तुरंत थैले को फिर से अपने कंधे पर लाद लिया और अपने रास्ते चलते बना। “हमेशा अपना कर्तव्य करते रहना चाहिये।”



Read More Stories